No New Notifications For You, New Notifications Will Be appear Here.

सरकार लेकर आ रही है अपना ट्रूकॉलर । अब नही होगा आपका पर्सनल डाटा चोरी

Sameer SR
4 Min Read

सरकार लेकर आ रही है अपना ट्रूकॉलर । अब नही होगा आपका पर्सनल डाटा चोरी।दोस्तों, हाल ही में भारतीय टेलीकॉम ने बिल्कुल ट्रूकालर को तरह काम करने वाले ऐप की घोषणा की है। ये आप हुबहू ट्रूकॉलर की तरह काम करेगा। अब आप सरकारी ऐप से अपने कॉलर की जानकारी हासिल कर सकते हैं। अभी तक अपने ट्रूकॉलर का इस्तेमाल किया होगा लेकिन ये एक प्राइवेट कंपनी है। और आपका सारा डाटा प्राइवेट कंपनी के पास है। हालांकि अभी तक ट्रूकॉलर ने अपने यूजर के डाटा का गलत इस्तेमाल नहीं किया है। लेकिन आगे चलकर सरकारी ऐप इसका पत्ता साफ करने आ रहा है।

क्या है ट्रूकॉलर ऐप

ट्रूकॉलर ऐप एक ऐसी सर्विस है जो आपके फोन पर कॉल करने वाले की जानकारी देता है। यह ऐप नए कॉलर का नाम बता देता है। यदि आपको कोई फोन करता है और उसका नाम आपके फोन में सेव नहीं है तो यह आपको उसका नाम दिखा सकता है। आज के समय में बहुत लोग बिना सोचे समझे ट्रूकॉलर का उपयोग करते हैं जो कि अच्छी बात नहीं है। आपको ऐसे ऐप के इस्तेमाल से बचना चाहिए। हालांकि कई लोग इसे प्रयोग करते हैं जिससे उन्हें अनजान कॉलर का नाम और जानकारी हासिल हो सके।

ट्रूकॉलर काम कैसे करता है

ट्रूकॉलर के काम करने का तरीका बिलकुल सिंपल है। जब आप ऐप इंस्टाल करते हैं तो यह ऐप आपसे आपके कॉन्टैक्ट रीड करने की अनुमति मांगता है। ऐसे में जब आप उसे अनुमति दे देते हैं तो यह आपके फोन का सारा नंबर कलेक्ट कर के अपने सर्वर पर अपलोड कर देता है। ऐसे ही वह हर यूजर का कॉन्टैक्ट अपने सर्वर कर सेव कर के रखता है। धीर धीरे करके ट्रूकालर के पास इतना डाटा हो गया है कि उसके पास लगभग हर मोबाइल नंबर उसे करने वाले का नाम है। यदि ऐसे में कोई नया नंबर आपके फोन पर कॉल करता है तो ट्रूकॉलर अपने सर्वर में उस नंबर को खंगालता है। जैसे ही वो नंबर उसके डाटा में मैच करता है वह वहां से आपको नाम शो कर देता है।

क्या आपको ट्रूकॉलर यूज करना चाहिए

दोस्तों, आपको इस तरह के ऐप को उसे करने से बचना चाहिए। क्योंकि ये ऐप आपके डाटा को सीधे सीधे कलेक्ट करता है। यह डाटा कोई नॉर्मल डाटा नहीं है। बल्कि यह आपके मोबाइल नंबर के साथ साथ उस नंबर को यूज करने वाले का नाम भी कलेक्ट कर लेता है। ऐसे में कोशिश करें कि आप इस ऐप का इस्तेमाल न ही करें।

क्या है सरकारी ऐप जो ट्रूकॉलर की तरह काम करता है

इस ऐप का नाम अभी तक सामने नहीं आया है। लेकिन इसका मतलब यह है कि अब आपका डाटा प्राइवेट संस्था के पास नही जायेगा। अब आपका डाटा सरकार के पास सुरक्षित रहेगा। देखते हैं कि इस ऐप को आने में कितना टाइम लगेगा। जो भी हो अभी शायद इस ऐप को आने में थोड़ा टाइम है। तब तक आप थोड़ा सब्र रखिए।