हर काम में सफलता पाने के लिए क्या करें? जाने ज़रूरी टिप्स

author
13 Min Read

मनुष्य का जीवन सफलताओं का भूखा रहता है मनुष्य अपने जीवन में हरछठ सफलता चाहता है और यदि किसी कारण से विफलता मिलती है तो वह परेशान हो जाता है परंतु जीवन की सबसे बड़ी दुविधा यह है कि हमें जीवन में सफलता कम देखने को मिलती है और हर क्षण असफलता ही देखने को मिलती है। परंतु यदि हम अपनी असफलताओं को ध्यान से देखें तो हमें यह जरूर पता चलेगा कि किस गलती के कारण हमें असफलता प्राप्त हुई है इस आर्टिकल में हम आपको हर काम में सफल होने के लिए कुछ जरूरी बातों को बताएंगे हो सकता है कि इनमें से कुछ जरूरी बातें आप भूल गए हो और जिनके कारण आप कम सफल हुए हो आगे बढ़ने से पहले दोस्तों यह जान ले कि अपने कार्य के प्रति निष्ठा और नियमितता से ही व्यक्ति सफल होता है इसके अतिरिक्त मनुष्य को कुछ बिंदुओं को भी ध्यान रखना होता है

अपने कार्य के प्रति नियमित और निष्ठावान रहने से सफलता मिल सकती है

यदि आप सफल व्यक्ति और असफल व्यक्ति के बीच मुख्य अंतर देखेंगे तो आप यह पाएंगे कि जो व्यक्ति अपने कार्य के प्रति अधिक प्रेम करता है और अपने कार्य में नियमित रहता है वह जल्दी सफल हो सकता है परंतु जो व्यक्ति अपने काम को एक भार के रूप में देखता है अथवा वह व्यक्ति अपने किसी काम को अनियमितताओं से करता है तो वह उसमें सफल नहीं हो सकता। किसी भी काम को नियमितता से करने से सबसे अधिक फायदा यह होता है कि आप उस अमुक कार्य की बारीकियों को समझ जाते हैं जिसके कारण आप उसमें सफल हो सकते हैं दोस्तों दुनिया में 90% से अधिक लोग सिर्फ अनियमितता और कार्य के प्रति निष्ठा न करने के कारण ही असफल हो जाते हैं इसलिए आप अपने कार्य से प्रेम करें और जो भी कार्य करें उसमें नियमित रहें

सोच समझकर अपने कार्यों का चुनाव करें

कई बार ऐसा होता है कि हम दूसरों के बहकावे में आने के कारण या दूसरों के जीवन से प्रेरणा लेकर किसी काम को करने में लग जाते हैं। हम कार्य शुरू करने के दौरान उस कार्य से होने वाले लाभ और हानि के बारे में विचार नहीं करते हम सिर्फ जल्दी बाजी में काम शुरू कर देते हैं परंतु जैसे ही कुछ समय बीतता है हमें यह एहसास होने लगता है कि हम गलत दिशा पर आ गए हैं दोस्तों हमें इस बात का ध्यान रखना होगा कि कोई भी देश हमारे लिए गलत नहीं होती है यदि कोई व्यक्ति अपनी मेहनत से अपने जीवन में सफल होता है तो जाहिर सी बात है कि उसी क्षेत्र में हम भी उसी प्रकार सफल हो सकते हैं परंतु जब हम बिना सोचे समझे किसी काम में प्रवेश कर जाते हैं तो हम वहां पर खुद को बहुत ही कमजोर समझते हैं ऐसे में स्थितियां दो प्रकार से जन्म लेती हैं या तो आप स्वयं से मेहनत करके उस काम को बारीकी से सीख कर आगे बढ़ जाए अन्यथा उस काम को छोड़कर दूसरा काम अपना लीजिए परंतु बार-बार एक काम से दूसरे काम पर जाना और दूसरे काम से तीसरे काम पर जाना हमें सदैव असफल ही बनाता है इसलिए हमें जो भी काम सुनना है उसे बहुत ही ध्यान पूर्वक और अपनी योग्यता के अनुरूप ही चुना है तत्पश्चात हमें उस काम को मेहनत से करना है और उसमें सफल होकर दिखाना है

सफलता को लेकर लालची न बने अपितु मेहनत को लेकर लालची बने

कई बार हमें अपने कार्यों के प्रति बहुत अधिक मेहनत करनी पड़ती है परंतु उसी स्थिति में हम अपनी मेहनत को सफलता से जोड़ने लगते हैं हमारे मन में हमेशा सफलता को पानी का लालच बना रहता है हमें हमेशा यह लगता है कि किसी काम को करके हम कितनी अधिक सफलता पा सकते हैं और अपने जीवन को बार-बार सफलताओं से ही छोड़ते रहते हैं इसके उलट हमें भूल जाते हैं कि हम उस अमुक कार्य में कितनी अधिक मेहनत कर रहे हैं यदि हम उस कार में अधिक मेहनत करेंगे तो हमें यह विश्वास होगा कि भविष्य में हम उस कार्य में और अधिक मेहनत कर सकते हैं और उस जैसे दूसरे कार्य में भी मेहनत कर सकते हैं और यदि एक बार मेहनत करने के बाद हमें सफलता का रस मिल जाता है तो हम अपने जीवन में यह समझ जाते हैं कि हम मेहनत करके एक काम को यदि सफल बना सकते हैं तो हम दूसरे काम को भी सफल बना सकते हैं परंतु यदि हम कभी सफलता के पीछे भागते हैं तो हमारा ध्यान सफलता पर ही लगा रहता है ऐसी स्थिति में यदि हमारा कोई एक कार्य सफल भी हो जाता है तो हम दोबारा से ऐसी परिस्थितियां बनाते हैं कि जिसमें फिर हम सफलता के पीछे ही भागते हैं और बिना परिश्रम के कोई भी सफलता नहीं मिल पाती दोस्तों हमें सफलता के लालच से दूर रहकर नियमित तौर पर मेहनत करनी चाहिए और मेहनत करके खुद के जीवन को और सुदृढ़ और व्यवस्थित बनाना चाहिए एक बार यदि आपने मेहनत करके सफलता पाना सीख लिया तो आप भविष्य में कभी भी असफल नहीं हो सकते हैं

अपनी कमजोरियों को ताकत में बदलने का गुण हमें सफल बनाता है

कई बार आपने ऐसा देखा होगा कि कुछ लोग गरीबी और मजबूरी के कारण काम नहीं कर पाते हैं और वे किसी कार्य में सफल नहीं हो पाते हैं यदि उनसे कोई उनकी असफलता का कारण पूछता है तो वह गरीबी को ही दोष देते हैं और स्वयं को असफल होने का मुख्य कारण गरीबी ही बताते हैं परंतु दोस्तों सिर्फ गरीबी के कारण ही व्यक्ति और सफल नहीं हो पाता अवश्य ही गरीबी के कारण सफलता पाने में थोड़ा समय लग सकता है परंतु हम अभाव में भी बहुत कुछ कर सकते हैं आज दुनिया में बहुत ऐसे तरीके उपलब्ध है जिनसे हम अपने जीवन में छोटी मोटी सफलता प्राप्त कर सकते हैं और धन इत्यादि प्राप्त करके अपने जीवन को खुशहाल बना सकते हैं यदि आप अपने चारों तरफ ध्यान से देखेंगे तो आपको सहायता करने वाले हजारों लोग दिख जाएंगे परंतु यदि आप लोगों की सहायता लेने के बजाय अपनी गरीबी पर ही रोने लगेंगे तो यह आपके लिए बहुत ही दुख भरी बात रहेगी दोस्तों कृपया ध्यान दें सहायता का तात्पर्य हां पर किसी से उधार और कर्ज लेना नहीं है बल्कि किसी से उचित प्रकार का ज्ञान और सही प्रकार का मार्गदर्शन लेना है जिससे आप आने वाले जीवन में सफल हो सके यदि आप किसी से उधार और कर्ज लेकर अपने जीवन में सफल होना चाहते हैं तो यह बार-बार आपको बोझ के नीचे दबा था जाएगा और अंत में आपको अपने सारे सपनों को छोड़कर किसी मजदूर के जैसे मजदूरी करनी होगी और आपका जीवन और आपके सपने भंग हो जाएंगे

अपने सपने से प्रेम करें

दोस्तों सफल होने का सबसे मुख्य कारण आपके सपने हैं यदि आप अपने सपनों से प्रेम करेंगे और नए नए सपनों को जन्म करेंगे तो ही आप अपने जीवन में सफल हो पाएंगे आप दिन रात मेहनत कर पाएंगे और अपने सपने के प्रति अग्रसर रहेंगे उदाहरण के लिए यदि आपने अपने जीवन में एक खुशहाल वातावरण का सपना देखा है तो इसके लिए आपको मेहनत करनी होगी जहां पर आपके पास विभिन्न प्रकार की संपत्तियां पैसे मोटर गाड़ियां घर इत्यादि उपलब्ध होंगे यदि आप इस प्रकार के सपने देखते हैं तो इन सपनों को हासिल करने के लिए आपको हर प्रकार से कड़ी मेहनत से गुजरता आवश्यक होगा यदि आप मेहनत करने से नहीं कतराते हैं और अपनी हर मेहनत को अपने सपनों पर एक विजय बनाते हैं तो अवश्य ही 1 दिन ऐसा आएगा कि आप अपने सारे सपने पूरे कर लेंगे और आप अपने जीवन में बहुत खुश हाल है परंतु यदि आपके जीवन में कोई सपना ही नहीं रहेगा और आपके जीवन का कोई चोर ही नहीं रहेगा तो आप सफल क्यों होना चाहेंगे यदि आपको सफल होना है तो आपको आपके सपनों के पीछे दौड़ना होगा और समय के अंत तक दौड़ना होगा जब तक कि आप उस सपने को पूरा ना कर ले

नकारात्मकता को भी ध्यान से समझे

कभी-कभी ऐसा कुछ होता है कि हम जिस रास्ते पर चल रहे होते हैं उसमें सफलता मिलना कठिन होता है और ऐसी स्थिति में हमारे इर्द-गिर्द के लोग हमें बहुत सारी नकारात्मक बातें बताते हैं जैसे कि हम उस अमुक कार्य में सफल नहीं हो सकते दोस्तों ऐसी स्थिति में आपको अपने अगल-बगल से आ रही नकारात्मकता को भी सुनना होगा और आपको यह बात समझनी होगी कि क्या वास्तव में आप उसमें सफल नहीं हो सकते हैं या आपके अंदर भी कुछ ऐसा जुनून है जो आप को सफल बना दें कई बार ऐसा हो सकता है कि आप उन नकारात्मकता ओं को समझ कर अपना रास्ता बदल ले और इसमें कोई बुराई भी नहीं है यदि आपके बड़े बुजुर्ग आपको किसी कार्य में असफलता की संभावनाएं ज्यादा देखकर रोकते हैं तो हो सकता है कि वह आपके अच्छे के लिए ही आपको ऐसा समझा रहे हैं अवश्य ही आपको अंध रूप से उनकी बात नहीं मानी है परंतु उनके सभी वक्तव्य ऊपर सही प्रकार से विचार करना है यदि आप सकारात्मक और नकारात्मक दोनों विचारों को ध्यान पूर्वक समझेंगे और अपनी योग्यता का पालन करेंगे तो अवश्य ही आप एक दिन सफल हो लेंगे उदाहरण के लिए यदि आपकी आंख में कुछ कमजोरी है और आप चश्मा पहनते हैं परंतु आपने जिद कर ली कि आपको बॉर्डर पर जाकर आर्मी में शामिल होना है ऐसी स्थिति में जब आपको पता है कि आप ऐसा नहीं कर सकते हैं क्योंकि आर्मी में भर्ती होने के लिए मेडिकल टेस्ट की परीक्षा होती है और आपकी आंख खराब होने के कारण आपका आदमी में दाखिला नहीं हो सकता है तो ऐसी स्थिति में आप कितनी भी जिद और तपस्या कर लीजिए आपके सफल होने की संभावनाएं बहुत ही कम रहेगी अवश्य फिर भी आप अलग-अलग प्रकार से आर्मी में अपनी सेवाएं दे पाएंगे परंतु जिस प्रकार आपने यह सोचा है वह काफी कठिन होगा परंतु यदि उसी परिस्थिति में आप एक अच्छे डॉक्टर या इंजीनियर बनने का प्रयास करते हैं तो शायद आप उसमें ज्यादा बेहतर ढंग से सफल हो जाएं तो दोस्तों हमें नकारात्मकता और सकारात्मकता को एक बराबर तराजू में रखकर चलना होगा और अपनी स्थिति के हिसाब से निर्णय लेना होगा