No New Notifications For You, New Notifications Will Be appear Here.

Gandhi Jayanti: 2 ऑक्टबर गांधी जयंती के लिए सबसे शानदार निबंध, अभी देखो

Mahir SR
3 Min Read

भारत दुनिया में इकलौता एक ऐसा देश है जहां पर इतनी ज्यादा विविधता देखने को मिलती है। भारत के अंदर लगभग सभी प्रकार के लोग रहते हैं। भारत में हिंदू मुस्लिम सिख इसाई और जितने भी अन्य धर्म है सभी धर्म को मानने वाले लोग आपको मिल जाएंगे। यही वजह है भारत को त्योहारों का देश भी कहा जाता है। क्योंकि भारत में सभी प्रकार के त्योहारों को बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है। भारत में कुछ धार्मिक त्योहार तथा कुछ राष्ट्रीय त्योहारों के लिए अवकाश होते हैं। ऐसे में 2 अक्टूबर को भारत का राष्ट्रीय त्योहार गांधी जयंती है।

गांधी जयंती क्यो मनाते हैं

गांधी जयंती भारत का एक राष्ट्रीय त्योहार है। गांधी जयंती को महात्मा गांधी के जन्मदिन के अवसर पर मनाया जाता है। महात्मा गांधी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 को राजकोट के पोरबंदर शहर में हुआ था। गांधी जी ने भारत को आजादी दिलवाने में बहुत ही अहम भूमिका निभाई थी। गांधी जी एक महान नेता थे। उन्होंने अहिंसा के माध्यम से अंग्रेजों को अपने सामने झुकने पर मजबूर कर दिया। और यही वजह है कि आज गांधी जी को पूरे दुनिया भर में जाना जाता है। इसी महान व्यक्तित्व के जन्मदिन के अवसर पर 2 अक्टूबर को गांधी जयंती मनाई जाती है।

गांधी जयंती पर निबंध

2 अक्टूबर को भारत के महान स्वतंत्रता सेनानी और अहिंसा की पुजारी महात्मा गांधी की जयंती है। महात्मा गांधी के जन्मदिन को केवल भारत में ही नहीं बल्कि पूरे दुनिया भर में अहिंसा के अग्रदूत के रूप में मनाया जाता है। महात्मा गांधी स्वतंत्रता की लड़ाई के लिए अहिंसा का सहारा लिया था। महात्मा गांधी का मानना था कि अहिंसा के माध्यम से आपके दुश्मन के अंदर परिवर्तन आते हैं। महात्मा गांधी के यह विचार दुनिया भर में प्रसिद्ध है। दुनिया में बहुत सारे देशों में 2 अक्टूबर को अंतर्राष्ट्रीय अहिंसा दिवस के रूप में भी मनाया जाता है। महात्मा गांधी के विचार अगर हम अपने अंदर डाल ले तो हमारे जीवन में बहुत ही ज्यादा परिवर्तन देखने को मिलेगा।