Cricket: ICC ने महिला क्रिकेट पर लिया बड़ा फैसला जिसे सुनकर पुरुष क्रिकेटर बौखला गए, जानिए पूरा मामला!

Mahir SR
4 Min Read

आज के समय में कोई भी खेल खेला जाता है तो उससे महिला तथा पुरुष दोनों खेलते हैं क्योंकि कोई भी खेल समाज में अपनी अच्छी छवि बनाने के लिए समाज के सभी तबकों को साथ में लेकर चलता है और ऐसा ही क्रिकेट के साथ भी क्रिकेट के खेल में पुरुष के साथ साथ महिलाओं के भी मैच होते हैं और मजे की बात तो यह है कि क्रिकेट वर्ल्ड कप पहली बार महिलाओं का ही खेला गया था जो कि 1973 में हुआ था और पुरुषों का पहला क्रिकेट वर्ल्ड कप 1975 में हुआ था हालांकि महिलाओं के क्रिकेट की ज्यादा चर्चा समाज में नहीं होती है क्योंकि ज्यादातर लोग पुरुष क्रिकेट को ही देखते हैं लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि महिलाओं को क्रिकेट नहीं खेलने दिया जाता महिलाएं भी क्रिकेट खेलते हैं और जब कोई बड़ा मौका आता है तब महिलाओं के भी मैच देखने के लिए लोगों की भीड़ जमा होती है।

मेंस क्रिकेट के बारे में

क्रिकेट में पुरुषों की टीम सबसे ज्यादा चर्चा में रहती है और इनको देखने के लिए मैदानों में भारी मात्रा में लोग भी आते हैं क्योंकि पुरुष क्रिकेट में हमको क्रिकेट का असली मजा आता है पुरुष लंबे लंबे छक्के मारते हैं तेज रफ्तार से बॉलिंग करते हैं बढ़िया फील्डिंग करते हैं जिसकी वजह से पुरुष क्रिकेट दुनिया में ज्यादा पसंद किया जाता है और काफी लंबे समय से यह चीज होती चली आ रही है पुरुषों ने क्रिकेट को आगे ले जाने में सबसे अहम रोल निभाया दुनिया भर में पुरुष क्रिकेट की काफी सारी लीग होती है जिसके माध्यम से पुरुष क्रिकेटर काफी मात्रा में पैसा कमाते हैं।

ICC ने वोमेन सारी क्रिकेट पर क्या फैसला किया?

आईसीसी ने वूमेन क्रिकेट पर बहुत ही बड़ा फैसला लिया है और यह फैसला यह है कि आपसे किसी भी आईसीसी टूर्नामेंट में वूमेन क्रिकेट टीम को चैंपियनशिप जीतने पर पुरुष क्रिकेट टीम के बराबर ही धनराशि मिलेगी जैसे कि क्रिकेट वर्ल्ड कप को जीतने पर पुरुष टीम को 15 करोड़ की धनराशि मिलती थी और महिलाओं को 4 करोड रुपए मिलते थे लेकिन अब से दोनों ही वर्ग के क्रिकेट टीम को सामान पैसे मिलेंगे जितना पुरुष क्रिकेट टीम को मिलेगा उतना ही महिला क्रिकेट टीम को भी मिलेगा आईसीसी ने ऐसा फैसला समाज में समानता का संदेश देने के लिए किया है और इससे पहले काफी सारे क्रिकेट बोर्ड ने भी अपने महिला खिलाड़ियों की तनख्वाह को पुरुषों के बराबर कर दिया था।

लोगो की इसपर क्या प्रतिक्रिया रही?

आईसीसी के इस बड़े फैसले पर लोगों ने अपनी अलग-अलग प्रतिक्रिया दी है कितने लोगों का कहना है कि यह आईसीसी की की तरफ से उठाया गया एक अच्छा कदम है इससे हमें समाज में महिला और पुरुष के बीच समानता देखने को मिलेगी और किसी भी वर्ग में ऐसा नहीं लगेगा कि दूसरा वर्ग उनसे ज्यादा ऊंचा है लेकिन कुछ का कहना यह है कि पुरुष क्रिकेटर महिला क्रिकेटरों के मुकाबले ज्यादा पैसे उत्पन्न करते हैं इसलिए उन्हें ज्यादा पैसे मिलने चाहिए लेकिन बात पैसे की ही नहीं कोई कितने भी पैसे उत्पन्न करें वह वर्ग बड़ा नहीं हो जाएगा इसीलिए समाज में समानता का संदेश देने के लिए यह एक अच्छा उदाहरण है चाहे लोग जो भी कहे लेकिन आईसीसी ने यह एक अच्छा फैसला किया है।