Anupama 8 August: मालती देवी को धमकी देगी अनुपमा, वनराज और अनुपमा के बीच हुई लड़ाई

Mahir SR
4 Min Read

अनुपमा सीरियल में ड्रामा कम होने का नाम नहीं ले रहा है। और आगे भी इस सीरियल के अंदर हमको हाई वोल्टेज ड्रामा देखने को मिलने वाला है। पिछले एपिसोड में आपने देखा कि मालती देवी की मदद से समर और डिंपी ने एक कार खरीदी थी। जिसकी वजह से घरवाले इन दोनों पर बहुत गुस्सा हो रहे थे। और आप मालती देवी समर और डिंपी की सैलरी बढ़ाने की भी बात कर रही है। आश्चर्यचकित करने वाली बात यह है कि अभी इन दोनों को मालती देवी के यहां काम करते हुए एक महीना भी नहीं हुआ है और मालती देवी इनकी सैलरी बढ़ा रही है। तभी वनराज वहां आ जाता है। और मालती देवी से कहता है कि तुम अनुपमा का कुछ नहीं कर पाई तो अब तुम उसके बच्चों को निशाना बना रही हो। वनराज मालती देवी को यहीं चेतावनी देता है।

वनराज पर गुस्सा हुई अनुपमा

मालती देवी वनराज द्वारा उसको बोली गई हर बात अनुपमा और समर को बता देती है। मालती अनुपमा से कहती है कि उसने अपने पूर्व पति को मुझे धमकी देने के लिए भेजा था। अब मैं उसे भी बर्बाद कर दूंगी। इस सब के बाद अनुपमा वनराज से पूछेगी की मालती देवी के पास क्यों गया था। वनराज कहता है मैं मालती देवी को समझने गया था। और अगर वह नहीं समझी तो मैं उसे बर्बाद कर दूंगा। और इस सब के बीच में डिंपी भी वनराज को कुछ बोलने लगती है। तब वनराज समर से डिंपी को चुप करने के लिए कहता है। वनराज का मालती को धमकी देना अनुपमा को सही नहीं लगता उसे लगता है कि सब कुछ पहले से ही गलत चल रहा है उस पर वनराज ने मालती देवी को धमकी भी दे दी। इसी बात पर अनुपमा वनराज से नाराज हो जाती है।

अनुपमा ने काव्या को क्या समझाया

अनुपमा किचन में काम कर रही होती है। तभी वहां पर काव्य आ जाती है। वह अनुपमा से कहती है कि वनराज ने उसके बच्चे को अपनाने से मना कर दिया है। काव्य रहती है कि मैं घर छोड़कर नहीं जाना चाहती हूं। इसी पर अनुपम काव्य को सलाह देती है कि वह वनराज की माफी का इंतजार करें। भले ही इस बात में थोड़ा समय लग सकता है लेकिन अभी इसके अलावा कोई और रास्ता नहीं है।

अनुपमा की मालती देवी को धमकी

मालती देवी अनुपमा के घर के बाहर आती है। मालती देवी को अपने घर के बाहर देखकर अनुपमा गुस्से से भड़क जाती है। अनुपमा मालती देवी से कहती है कि वह उसकी गुरु है और गुरु भगवान स्वरूप होते हैं। लेकिन मां अपने बच्चों के लिए भगवान से भी लड़ बैठती है। अभी अभी तक तुमने मुझसे बदला लेने की कोशिश की इसलिए मैं शांति थी। लेकिन अब वह एक मां का क्रोध देखेगी। वह कहती है कि वह इतने दिनों से तमाशा कर रही है लेकिन अब इस अभी तमाशा को खत्म करना चाहती है।