Anupama 14 August: अनुपमा के सामने फूटकर रोया रोमिल, बताया अंकुश का सच

Mahir SR
3 Min Read

बीते कुछ एपिसोड से अनुपमा सीरियल में अनुपमा के घर के अंदर जो कुछ हो रहा है वह हम को दिखाया जा रहा है। अनुपमा के परिवार में कुछ अच्छा नहीं चल रहा है। उधर समर और डिंपी घर से अलग हो चुके हैं। और यहां कपाड़िया परिवार में पाखी बहुत परेशान है। और आपने पिछले कुछ एपिसोड में देखा होगा कि रोमिल और अधिक के बीच भी झगड़ा हुआ था। ऐसे में दोनों घरों के माहौल बहुत खराब चल रहे हैं। और इसके पीछे कहीं ना कहीं मालती देवी की ही देन है। लेकिन इन सबके बीच हमको इस सीरियल के अंदर ड्रामा भी देखने को मिल रहा है। और अनुपमा के आने वाले एपिसोड में भी हमको हाई वोल्टेज ड्रामा देखने को मिलने वाला है।

अधिक से सवाल जवाब करेगा अनुज

आज की एपिसोड की शुरुआत रोमिल और अधिक की पुरानी लड़ाई से होगी। रोमिल रहेगा की आप लोगों को मेरी बदतमीजी दिखती है लेकिन इसकी बदतमीजी नहीं दिखती। वह अपनी इस बात से अधिक की ओर इशारा कर रहा है। यह आपकी बेटी के साथ किस तरीके का सलूक करता है। अनुपमा पाखी के बारे में यह बात सुनकर बहुत परेशान हो जाएगी। वही पाखी इशारों से रोमिल को चुप करने के लिए कहेगी। और पाखी के इशारे को देखकर रोमिल गुस्से से अपने कमरे में चला जाएगा। लेकिन अनुज वहीं पर अधिक से सवाल करने लगेगा।

रोमिल और अनुपमा का वार्तालाप

लेकिन रोमिल की बातों से अनुपम परेशान होती है। इसीलिए वह रोमिल से बात करने उसके कमरे में जाती है। अनुपमा रोमिल से कहेगी कि नाश्ते में तुम्हें जो खाना है वह तुम मुझे बता देना मैं बना दूंगी। लेकिन दिन और रात का खाना मेरे हिसाब से खाना पड़ेगा। अनुपमा द्वारा यह बातें सुनकर रोमिल भावुक हो जाएगा। अनुपमा से कहेगा कि मैं उनका बेटा हूं। लेकिन वह मेरे पिता नहीं है। जब उन्होंने कभी पिता होने की जिम्मेदारी नहीं उठाई तो वह मेरे पिता कैसे हो सकते हैं। मैं यहां पर इसलिए आया हूं क्योंकि मेरे पास और कोई रास्ता नहीं था। मेरी खुद की मां ने मुझे छोड़ दिया है और वह अपने बॉयफ्रेंड के साथ चली गई। मेरे पिता बिजनेस ट्रिप पर जाते हैं और जब वापस आते हैं तो मेरे लिए गिफ्ट लाते हैं। लेकिन क्या गिफ्ट लाने से और स्कूल की फीस भरने से कोई पिता बन जाता है? यह सब बातें रोमिल अनुपमा से करता है। रोमिल अनुपमा से कहता है कि जब मुझे उनकी सबसे ज्यादा जरूरत थी तब वह नहीं आए। मेरे दोस्त मेरा यह कहकर मजाक उड़ाते थे कि तेरे पापा क्यों नहीं आते हैं।